Advertisements

How to save money-पीपीएफ अकाउंट खोलकर पैसे कैसे बचाये?

Advertisements

           आज की पोस्ट “How to save money-पैसे कैसे बचाये ” मे आपका स्वागत है। बचत करना बहुत अच्छा गुण है। पर उस बचत को सही जगह पर लगाना भी बहुत जरूरी है। आपको अपनी बचत को निवेश करना भी सीखना चाहिए। निवेश का मतलब होता है अपने पैसों को ऐसी जगह पर लगाना जो आपको इन पैसों का कई गुना पैसा लौटा कर दे। यानी आपको बहुत ज्यादा फायदा हो।  यहां पर हम आपको पीपीएफ अकाउंट के बारे में जानकारी देंगे।
               पीपीएफ स्कीम क्या है?
              What is PPF Scheme:

         Public Provident Fund (PPF) हिंदी में इसको लोक भविष्य निधि कहते हैं यह एक ऐसी सेविंग स्कीम हैै। जो अच्छे ब्याज के साथ साथ टैक्स सेविंग भी कराती है। यह योजना खुद केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाती है। और सरकार ही प्रत्येक वित्तीय वर्ष के लिए ब्याज निर्धारित करती है। न्यू सेविंग स्कीम के अलावा इसमें ब्याज अधिक होता है। वर्तमान समय में ब्याज दर 7.1 % है। इस स्कीम को सरकार अपने पोस्ट ऑफिस और बैंकों के जरिए चलाती है।

  पीपीएफ अकाउंट के लिए जरूरी योग्यता:-

Qualification required for PPF account


          पीपीएफ अकाउंट को देश का कोई भी नागरिक खुलवा सकता है। चाहे आप किसी भी व्यवसाय से जुड़े हो। इसमें age limit का कोई भी बंधन नहीं है। आप अपने बच्चे के लिए भी PPF Account खुलवा सकते हैं। इसमे ध्यान देने वाली बात यह है कि एक व्यक्ति केवल एक ही पीपीएफ अकाउंट खुलवा सकता है।

       न्यूनतम और अधिकतम निवेश सीमा
Minimum and maximum Investment limit:

             PPF Account मे हर साल कम से कम 500 रुपये जमा करना जरूरी है। जबकि साल में अधिकतम डेढ़ लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं। इसमे साल का निर्धारण वित्तीय वर्ष से होता है जो कि 1 अप्रैल से शुरू होकर अगले साल 31 मार्च को खत्म होता है।
            वर्ष 2019 मे बदले नियम के अनुसार अब आप वर्ष में चाहे जितनी बार पैसा जमा कर सकते हैं,  लेकिन maximum limit डेढ़ लाख रुपये तक ही जमा कर सकते हैं।


          आयकर में भी मिलेगी छूट-
    Income tax will also be exempt:

             बड़े वित्तीय लक्ष्यों या रिटायरमेंट के बाद की जरूरतों को पूरा करने के लिए अगर आप फंड तैयार करना चाहते हैं, तो स्मॉल सेविंग्स स्कीम्स सबसे बेहतर विकल्प है।

           पब्लिक प्रोविडेंट फंड यानी PPF स्कीम मे निवेश करके निवेशक हर साल 1.5 लाख रुपये का आयकर भी बचा सकते हैं। आयकर अधिनियम की धारा 80 सी के तहत यह टैक्स छूट निवेशक पुराने टैक्स स्लेब का चयन कर प्राप्त कर सकते हैं।

             मिलेगा बेहतर गारंटीड रिटर्न-
You will get better guaranteed returns:

        पीपीएफ स्कीम अपने खाताधारकों को 7.1 फीसद गारंटीड रिटर्न प्रदान करती है। इस बेहतर ब्याज दर के माध्यम से इस योजना में निवेश कर निवेशक सोते हुए भी अपना धन बढ़ा रहे होते हैं। इस योजना में मैच्योरिटी की अवधि 15 साल होती है। निवेशक 15 साल से अधिक समय तक भी निवेश कर एक बड़ा फंड तैयार कर सकते हैं। अर्थात यह एक लंबी अवधि का निवेश है। निवेशक जितनी जल्दी इस योजना में निवेश करना शुरू करेंगे, उतनी ही जल्दी वे एक बड़ा फंड तैयार कर पाएंगे।

मैच्योरिटी के बाद भी जारी रख सकते हैं अकाउंट-Account can continue even after maturity

           एक्सपर्ट्स की सलाह होती है कि जब तक व्यक्ति कमाता है, तब तक उसे पीपीएफ अकाउंट में योगदान देते रहना चाहिए। निवेशक 15 साल की मैच्योरिटी के बाद भी अपने अकाउंट को आगे कितने भी समय के लिए जारी रख सकते हैं। इसके लिए निवेशक को मैच्योरिटी के एक साल के भीतर फॉर्म-H जमा कराना होता है। 15 साल की मैच्योरिटी के बाद भी पीपीएफ अकाउंट जारी रखने पर निवेशक पीपीएफ अकाउंट में जमा पीपीएफ ब्याज पर भी ब्याज पाने के योग्य होते है। इस तरह निवेशकों को दोहरा लाभ होता है।

            अंत में होगा मोटा मुनाफा-
  There will be big profit in the end:

                अगर यह माने कि कोई व्यक्ति 25 साल की आयु में पीपीएफ अकाउंट खुलवाता है और उसकी रिटायरमेंट की आयु 60 वर्ष है, तो वह कुल 35 साल पीपीएफ अकाउंट में निवेश कर सकता है। यह मानकर चलते हैं कि वह व्यक्ति अपने महीने के वेतन में से 3,000 रुपये बचाकर पीपीएफ अकाउंट में जमा कराता है। अब अगर 35 साल तक के उसके पीपीएफ योगदान व 7.1 फीसद के हिसाब से ब्याज की गणना करें, तो अंत में उसका कुल फंड 54.47 लाख रुपये का हो जाएगा। इस तरह आप पीपीएफ अकाउंट में महीने के 3,000 रुपये अर्थात प्रति दिन मात्र 100 रुपये निवेश कर 35 साल में 54.47 लाख रुपये का फंड तैयार कर सकते हैं।

         निवेश को समय-समय पर बढ़ाना-
     Periodically increase investment:

                हम सभी जानते हैं कि समय के साथ साथ। महंगाई भी बढ़ती जाती है और हमारी इनकम भी बढ़ती जाती है। ऐसे में अगर आपने निवेश की शुरुआत ₹3000 से की। आप 15 वर्ष या उससे अधिक समय तक पीपीएफ में निवेश करते हैं। और यदि आप निवेश को वर्ष दर वर्ष 5% या 10% बढ़ाते जाएंगे तो आपका मेच्योरिटी के समय एक बड़ा फंड तैयार हो सकता है। आपका फंड करोड़ों में हो सकता है और आप करोड़पति भी बन सकते हैं।


1 thought on “How to save money-पीपीएफ अकाउंट खोलकर पैसे कैसे बचाये?”

Leave a Comment